Tag

Hai

Browsing


जब रात तुम्हारी याद आती है, दूर चाँद में तुम्हारी सूरत नज़र आती है,
ढूँढ़ते हैं हम तुम्हे रात भर अपने आस पास, ऐसे ही तनहा हर रात गुज़र जाती है
शुभ रात्रि

Jab raat tumhaari yaad aati hai,
Door chaand mein tumhaari soorat nazar aati hai,
Dhoondte hain hum tumhe raat bhar apne aas paas,
Aise hi tanhaa har raat guzar jaati hai…
Shubh Ratri…



Source link


आज फिर एक नयी सुबह आई है,
साथ अपने एक नयी उम्मीद लाई है,
है असर तुम्हारी याद का ऐसा कि
हवाएं भी अपने साथ तुम्हारी परछाई लाई है।
गुड मॉर्निंग।

Aaj phir ek nayi subah aayi hai,
Saath apne ek nayi ummeed laayi hai,
Hai asar tumhaari yaad ka aisa ki,
Hawayein bhi apne saath tumhaari parchhayi laayi hai
Good morning…



Source link


है दोस्ती वो मुस्कान जो चेहरे से नहीं जाती है,
है दोस्ती वो खुशबू जो साँसों में बस जाती है,
हो दोस्त कोई अगर तुम्हारे जैसा दुनियाँ में,
तो ज़िन्दगी ही स्वर्ग बन जाती है।

Hai dosti wo muskaan jo chehre se nahi jaati hai,
Hai dosti wo khushboo jo saanson mein bus jaati hai
Ho dost koi agar tumhaare jaisa duniya mein,
To zindagi hi swarg ban jaati hai



Source link